Tuesday, June 21, 2016

सॉफ्टबैंक के प्रेसिडेंट निकेश अरोड़ा का इस्‍तीफा, 500 करोड़ है सालाना सैलरी पैकेज



नई दिल्‍ली. सॉफ्टबैंक के प्रेेसिडेंट निकेश अरोड़ा ने इस्‍तीफा दे दिया है। अरोड़ा ने ट्वीट कर यह जानकारी दी है। उन्‍होंने कहा कि कंपनी बोर्ड से क्‍लीन चिट मिलने के बाद उन्‍होंने इस्‍तीफे दे दिया। अरोड़ा का इस्‍तीफा तत्‍काल प्रभाव से लागू हो गया। हालांकि फिलहाल वह सॉफ्टबैंक के एडवाइजर बने रहेंगे। अरोड़ा ने ट्वीट किया, 'मेरे आगे बढ़ने का सही समय है। इंडियन र्स्‍टाटअप को सपोर्ट जारी रहेगा।' - माना जा रहा है कि
इन्‍वेस्‍टर्स की नाराजगी के दबाव में निकेश अरोड़ा ने इस्‍तीफा देने का फैसला किया है। - कुछ डील्‍स और अरोड़ा के सैलरी पैकेज को लेकर कई स्‍टेकहोल्‍डर्स नाराज चल रहे थे। उन्‍होंने अरोड़ा की योग्‍यता पर सवाल खड़े किए थे।
- यह खबर पहले से चल रही थी कि अरोड़ इन्‍वेस्‍टर्स की नाराजगी के चलते कंपनी छोड़ने की तैयारी में हैं।
बोर्ड ने जांच के बाद दी क्‍लीनचिप?
- सॉफ्टबैंक इंडिपेंडेंट बोर्ड मेम्‍बर्स की एक स्‍पेशल कमिटी निकेश अरोड़ा की योग्‍यता को लेकर जांच कर रही थी।
- इस कमिटी ने सोमवार को अरोड़ा को क्‍लीनचिट दे दी थी। इससे साफ हो गया कि अरोड़ा अपने पद के लिए योग्‍य थे।
- क्‍लीनचिट मिलने के बाद मासायोशी सोन ने कहा, ''जब यह यह आरोप पहली बार सार्वजनिक हुए थे, तब भी मुझे निकेश पर पूरा भरोसा था। ''
इस्‍तीफे के बाद क्‍या बोले?
- अरोड़ा ने ट्वीट किया, ‘‘मुझे कभी संदेह नहीं था। मेरे पिता एक बेहद ईमानदारी इंसान थे। यदि उन्‍होंने मुझे कुछ सिखाया है तो यही सिखाया।’’
- अरोड़ा ने कहा, ‘‘मासायोशी सोन 5-10 साल के लिए सीईओ बने रहेंगे। मैं इसका सम्‍मान करता हूं। उनसे बहुत कुछ सीखा। बोर्ड से मुझे क्‍लीन चिट मिल गई। यह मेरे लिए आगे बढ़ने का समय है।’’
- अरोड़ा ने कहा, ‘‘मेरे पास बहुत ज्यादा समय है और ईमानदारी भी बहुत ज्यादा है।’’
- इस्‍तीफे के पीछे इंडियन स्‍टार्टअप्‍स तो वजह नहीं? ट्वीट पर पूछे सवाल के जवाब में अरोड़ा ने कहा, ‘‘मैं भारत में मौजूद स्ट्रार्ट अप कंपनियों को बहुत प्यार करता हूं।’’
- जापानी टेलिकॉम कंपनी सॉफ्टबैंक के प्रेसिडेंट व सीओओ निकेश अरोड़ा को पिछले फाइनेंशियल ईयर 2015-16 में करीब 500 करोड़ रुपए (7.3 करोड़ डॉलर) का सैलरी पैकेज मिला।
- इसके साथ निकेश लगातार दूसरे साल ब्लूमबर्ग की दुनिया के टॉप-पेड एक्जीक्यूटिव की सूची में बने रहे। ब्लूमबर्ग के आंकड़ों के मुताबिक, निकेश का वेतन एप्पल के सीईओ टिम कुक और वॉल्ट डिज्नी के बॉब ईगर की सैलेरी के नजदीक है। 

No comments:

Post a Comment

www.kiranbookstore.com

http://kiranprakashan.blogspot.in/
http://spardhaparikshahelp.blogspot.in/
http://advocate-vakil.blogspot.in/
http://bankexamhelpdesk.blogspot.in/
http://kicaonline.blogspot.in/
http://previous-questionpapers.blogspot.in/
http://freecareerhelp.blogspot.com/
http://kiranworkfromhome.blogspot.in/
http://kp-ahmedabad.blogspot.in/
http://kp-pune.blogspot.in/
http://kirancompetitivecurrentevents.blogspot.in/
http://iwantgovernmentjob.blogspot.in/
http://staffselectioncommission.blogspot.in/
http://pradeepclasses.blogspot.in/
http://rajasthan-government-jobs.blogspot.in/
http://medical-government-jobs.blogspot.in/
http://it-government-jobs.blogspot.in/
http://engineering-government-jobs.blogspot.in/
http://mp-government-jobs.blogspot.com/
http://punjab-government-jobs.blogspot.in/
http://tamil-nadu-government-jobs.blogspot.in/
http://karnataka-government-jobs.blogspot.in/
http://up-government-jobs.blogspot.in/
http://west-bengal-government-jobs.blogspot.in/
http://central-government-jobs.blogspot.in/
http://bihar-government-jobs.blogspot.in/
http://gujarat-government-jobs.blogspot.com/
http://maharashtra-government-jobs.blogspot.in/
http://government-jobs-kiran.blogspot.in/
http://sarkari-naukri-kiran.blogspot.in/
http://competitiveexamhelp.blogspot.in/
http://kiraninstituteforcareerexcellence.blogspot.com/
http://mpschelp.blogspot.com/
http://competitivemaths.blogspot.in/
http://competitiveenglish.blogspot.in/
http://competitivecurrentaffair.blogspot.in/
http://reasoningexams.blogspot.in/
http://teacherexams.blogspot.in/
http://policeexams.blogspot.in/
http://railwayexams.blogspot.com/
http://competitivegeneralstudies.blogspot.in/
http://ksbms.blogspot.in/
http://kirancurrentaffairs.blogspot.in/
http://upscmpsc.blogspot.in/
http://www.kirannews.in/
http://www.pratiyogitakiranonline.com/
http://ap-andhrapradesh-jobs.blogspot.in/