Wednesday, June 15, 2016

US में फेल हुआ भारत को सपोर्ट करता बिल

वॉशिंगटन.भारत को यूएस में स्पेशल स्टेटस दिलाने वाला बिल अमेरिकी संसद में पास नहीं हो पाया। इस बिल को टॉप रिपब्लिकन सीनेटर ने प्रपोज किया था। अगर ये बिल पास हो जाता तो भारत को अमेरिका के ग्लोबल स्ट्रैटजिक और डिफेंस पार्टनर का दर्जा हासिल हो जाता। मोदी-ओबामा के हालिया ज्वाइंट स्टेटमेंट के बाद भारत को स्पेशल स्टेटस मिलने की उम्मीद बढ़ी थी। मुलाकात के एक दिन बाद इसी यूएस कांग्रेस में
मोदी को 9 बार स्टैंडिंग ओवेशन भी मिला था। मोदी के कांग्रेस में ऐड्रेस के बाद पेश किया गया था बिल...
क्यों बंधी थी स्पेशल स्टेटस बिल से उम्मीदें
- हाल ही में मोदी जब यूएस के स्टेट गेस्ट बने थे तो ओबामा से मुलाकात के बाद दोनों नेताओं ने ज्वाइंट स्टेटमेंट जारी किया था।
- ज्वाइंट स्टेटमेंट में कहा गया है कि इंडिया को यूएस मेजर डिफेंस पार्टनर मानता है।
- यह भी कहा गया था कि आेबामा भारत के साथ ट्रेड और डिफेंस से जुड़ी टेक्नोलॉजी ट्रांसफर का सपोर्ट करते हैं। भारत को अब अमेरिका के सबसे करीबी सहयोगी देशों में से एक माना जाएगा।
- यूएस कांग्रेस के ज्वाइंट सेशन में पीएम नरेंद्र मोदी के ऐड्रेस के एक दिन बाद ही ये बिल पेश किया गया था।
कितने मिले वोट
- टॉप रिपब्लिकन सीनेटर जॉन मैक्केन ने ये बिल यूएस कांग्रेस में प्रपोज किया था।
- इसमें नेशनल डिफेंस ऑथोराइजेशन एक्ट (2017) में बदलाव की बात की गई थी।
- इस बिल के जरिए भारत के साथ बाइलेटरल रिलेशन का दर्जा बढ़ाने की मांग की गई थी।
- संसद में नेशनल डिफेंस ऑथोराइजेशन एक्ट (एनडीएए) को दोनों पार्टियों ने 85-13 के वोट से पास किया।
- लेकिन इस एक्ट के कई अहम अमेंडमेंट्स संसद में पास नहीं किए गए।
- मैक्केन ने इस पर निराशा जताते हुए कहा कि इन अमेंडमेंट्स को गंभीरता से नहीं लिया गया।
...तो किन फील्ड्स में बेहतर सहयोगी होते दोनों देश?
- बिल में अमेरिकी प्रेसिडेंट से भारत को अमेरिका का ग्लोबल और स्ट्रैटजिक पार्टनर बनाने की बात कही गई थी।
- सीनेटर ने इस बिल को प्रपोज करते हुए कहा था कि भारत और अमेरिका के सिक्युरिटी चैलेंजेज एक जैसे हैं।
- बिल में प्रेसिडेंट को एशिया-पैसिफिक और साउथ एशिया में भारत के साथ रिलेशन्स को अहमियत देने को कहा गया था।
- साथ ही, भारत के साथ डिफेंस डील्स को आगे बढ़ाने के लिए एक स्पेशल सेल के गठन की बात कही गई थी।
- बिल पास हो जाता तो भारत डिफेंस और स्पेस की फील्ड से लेकर इंडस्ट्री और इनोवेशन तक सभी फील्ड में अमेरिका का बेहतर सहयोगी बन जाता।

No comments:

Post a Comment

www.kiranbookstore.com

http://kiranprakashan.blogspot.in/
http://spardhaparikshahelp.blogspot.in/
http://advocate-vakil.blogspot.in/
http://bankexamhelpdesk.blogspot.in/
http://kicaonline.blogspot.in/
http://previous-questionpapers.blogspot.in/
http://freecareerhelp.blogspot.com/
http://kiranworkfromhome.blogspot.in/
http://kp-ahmedabad.blogspot.in/
http://kp-pune.blogspot.in/
http://kirancompetitivecurrentevents.blogspot.in/
http://iwantgovernmentjob.blogspot.in/
http://staffselectioncommission.blogspot.in/
http://pradeepclasses.blogspot.in/
http://rajasthan-government-jobs.blogspot.in/
http://medical-government-jobs.blogspot.in/
http://it-government-jobs.blogspot.in/
http://engineering-government-jobs.blogspot.in/
http://mp-government-jobs.blogspot.com/
http://punjab-government-jobs.blogspot.in/
http://tamil-nadu-government-jobs.blogspot.in/
http://karnataka-government-jobs.blogspot.in/
http://up-government-jobs.blogspot.in/
http://west-bengal-government-jobs.blogspot.in/
http://central-government-jobs.blogspot.in/
http://bihar-government-jobs.blogspot.in/
http://gujarat-government-jobs.blogspot.com/
http://maharashtra-government-jobs.blogspot.in/
http://government-jobs-kiran.blogspot.in/
http://sarkari-naukri-kiran.blogspot.in/
http://competitiveexamhelp.blogspot.in/
http://kiraninstituteforcareerexcellence.blogspot.com/
http://mpschelp.blogspot.com/
http://competitivemaths.blogspot.in/
http://competitiveenglish.blogspot.in/
http://competitivecurrentaffair.blogspot.in/
http://reasoningexams.blogspot.in/
http://teacherexams.blogspot.in/
http://policeexams.blogspot.in/
http://railwayexams.blogspot.com/
http://competitivegeneralstudies.blogspot.in/
http://ksbms.blogspot.in/
http://kirancurrentaffairs.blogspot.in/
http://upscmpsc.blogspot.in/
http://www.kirannews.in/
http://www.pratiyogitakiranonline.com/
http://ap-andhrapradesh-jobs.blogspot.in/