Wednesday, December 21, 2016

20 हजार से अधिक चंदा पाने वालों में भाजपा No. 1

20 हजार से अधिक चंदा पाने वालों में भाजपा No. 1 भारत निर्वाचन आयोग (ईसी) जल्द ही केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) को अपने उस फैसले के बारे में बताएगी जिसमें करीबन 200 राजनीतिक पार्टियों के हटाने की बात कही गई है। इस लिस्ट में उन पार्टियों के बारे में सभी जानकारियां हैं। चुनाव के दौरान सभी दल एक दूसरे के ऊपर काले धन के इस्तेमाल का आरोप लगाते हैं। राजनीतिक दल चुनावी सुधार के लिए पारदर्शी चंदे की
मांग भी करते हैं। लेकिन हकीकत उनके वादों और दावों से बहुक दूर है। देश के 7 राष्ट्रीय पार्टियों को वर्ष 2015-16 में 20 हजार रुपये से ज्यादा की सीमा में 102 करोड़ का चंदा मिला है। यह रकम 1,744 चंदे से मिली है, जिसमें सबसे अधिक चंदा भाजपा को मिला है। भाजपा को 613 दानदाताओं ने कुल 76 करोड़ रुपये चंदा दिया है।

ऐसे मिली जानकारी
असोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) के अनुसार, भाजपा को चंदे में मिली रकम कांग्रेस, एनसीपी, सीपीआई, सीपीएम और तृणमूल कांग्रेस को मिले चंदे से तीन गुना ज्यादा है। कांग्रेस को भाजपा के बाद सबसे अधिक 20 करोड़ रुपये चंदे में मिले हैं जो उन्हें 918 लोगों से मिले हैं। पार्टियों ने चुनाव आयोग को चंदे का ब्यौरा सौंपा है।

कांग्रेस-भाजपा ने आयकर रिटर्न की नहीं दी जानकारी
कांग्रेस और भाजपा ने अपने आयकर रिटर्न की जानकारी चुनाव आयोग को नहीं दी है इसलिए 20,000 रुपये से कम की सीमा में कितना चंदा इन्हें प्राप्त हुआ है, यह जानकारी नहीं मिल सकी है। बसपा ने यह घोषणा की है कि उसे 2015-16 के बीच 20,000 से नीचे का चंदा नहीं मिला है। 

वहीं, खास बात यह है कि 2014-15 की तुलना में पार्टियों को मिले चंदे में 528 करोड़ रुपये की कमी हुई है, यानी चंदे में 84 प्रतिशत की गिरावट आई है।

एनसीपी को मिले चंदे में कमी
एनसीपी को मिले चंदे में 98 फीसदी की कमी हुई है, उसे इस बार सिर्फ 71 लाख का ही चंदा मिला है। जबकि भाजपा को मिला चंदा 2014-15 की तुलना में 82 फीसदी कम है। भाजपा को मिले चंदे में 2013-14 और 2014-15 में 156 फीसदी की वृद्धि हुई थी और कांग्रेस को मिले चंदे में उसी अवधि में 137 फीसदी की बढ़ोतरी हुई थी।

कांग्रेस को 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से 1.17 करोड़ रुपये, सीपीआई को 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से 22.22 लाख रुपये और बीजेपी को सिर्फ बिहार से 51,000 रुपये दान मिला है। 

कर्नाटक से सबसे ज्यादा दान
सभी राज्यों में सबसे ज्यादा चंदा दान कर्नाटक के डोनर्स ने किया जिन्होंने 80 लाख रुपये भेजे हैं, इसके बाद मेघालय का स्थान है जहां के डोनर्स ने 21.54 लाख रुपये भेजे हैं। दोनों राज्यों का चंदा कांग्रेस को मिला है।
www.kiranbookstore.com

http://kiranprakashan.blogspot.in/
http://spardhaparikshahelp.blogspot.in/
http://advocate-vakil.blogspot.in/
http://bankexamhelpdesk.blogspot.in/
http://kicaonline.blogspot.in/
http://previous-questionpapers.blogspot.in/
http://freecareerhelp.blogspot.com/
http://kiranworkfromhome.blogspot.in/
http://kp-ahmedabad.blogspot.in/
http://kp-pune.blogspot.in/
http://kirancompetitivecurrentevents.blogspot.in/
http://iwantgovernmentjob.blogspot.in/
http://staffselectioncommission.blogspot.in/
http://pradeepclasses.blogspot.in/
http://rajasthan-government-jobs.blogspot.in/
http://medical-government-jobs.blogspot.in/
http://it-government-jobs.blogspot.in/
http://engineering-government-jobs.blogspot.in/
http://mp-government-jobs.blogspot.com/
http://punjab-government-jobs.blogspot.in/
http://tamil-nadu-government-jobs.blogspot.in/
http://karnataka-government-jobs.blogspot.in/
http://up-government-jobs.blogspot.in/
http://west-bengal-government-jobs.blogspot.in/
http://central-government-jobs.blogspot.in/
http://bihar-government-jobs.blogspot.in/
http://gujarat-government-jobs.blogspot.com/
http://maharashtra-government-jobs.blogspot.in/
http://government-jobs-kiran.blogspot.in/
http://sarkari-naukri-kiran.blogspot.in/
http://competitiveexamhelp.blogspot.in/
http://kiraninstituteforcareerexcellence.blogspot.com/
http://mpschelp.blogspot.com/
http://competitivemaths.blogspot.in/
http://competitiveenglish.blogspot.in/
http://competitivecurrentaffair.blogspot.in/
http://reasoningexams.blogspot.in/
http://teacherexams.blogspot.in/
http://policeexams.blogspot.in/
http://railwayexams.blogspot.com/
http://competitivegeneralstudies.blogspot.in/
http://ksbms.blogspot.in/
http://kirancurrentaffairs.blogspot.in/
http://upscmpsc.blogspot.in/
http://www.kirannews.in/
http://www.pratiyogitakiranonline.com/
http://ap-andhrapradesh-jobs.blogspot.in/