Wednesday, January 25, 2017

नए शोध में पता चला, मंगल ग्रह पर कैसे हुई उष्णकाल की शुरुआत

नए शोध में पता चला, मंगल ग्रह पर कैसे हुई उष्णकाल की शुरुआत प्राचीन काल में मंगल ग्रह के वातावरण में मीथेन, कार्बन डाइआक्साइड और हाइड्रोजन गैसों के बीच क्रिया के चलते ही संभवत इस लाल ग्रह पर उष्णकाल शुरू हुआ होगा जिसके चलते इस ग्रह की सतह पर पानी को बने रहने में मदद मिली होगी। एक नए शोध में यह बात सामने आई है और इस शोध से धरती के पार जीवन की हमारी तलाश में मदद मिल सकती
है।  इस बात के काफी भूगौलिक सबूत हैं जो यह बताते हैं कि मंगल ग्रह की सतह पर समय समय नदियां बहती रही होंगी। यह पानी संभवत तीन से चार अरब साल पहले मंगल पर रहा होगा मगर उस समय मंगल बहुत ठंडा रहा होगा। इतना अधिक ठंडा कि वहां पानी तरल स्वरूप में बह सकने की हालत में ही नहीं रहा हो।
Science and tech, news in hindi, Current Affairs 2017, 
अमेरिका में हार्वर्ड जान ए पालसन स्कूल आफ इंजीनियरिंग एंड अप्लाइड साइंस एसईएएस के शोधकर्ताओं का कहना है कि शुरूआती समय में मंगल ग्रह शक्तिशाली ग्रीनहाउस गैसों के प्रभाव के चलते बीच बीच में गर्म होता रहा होगा। 

एसईएएस के सहायक प्रोफेसर रॉबिन वर्डस्वर्थ ने बताया,  यदि हम यह समझ जाते हैं कि शुरूआती दौर में मंगल कैसे स्वरूप में था तो इससे हमें यह पता चल सकता है कि सौर प्रणाली के बाहर अन्य ग्रहों पर जीवन की संभावनाएं कितनी हैं।

चार अरब साल पहले सूरज अपने मौजूदा स्वरूप से 30 फीसदी निस्तेज था और संभावना है कि इससे सौर विकिरण कम मात्रा में होता होगा और कम सौर विकिरण मंगल की सतह तक पहुंचता होगा। 

ऐसे में जो कम विकिरण मंगल पर पहुंचता होगा वह वातावरण में सीमित हो जाता होगा जिसका परिणाम गर्म और नमी वाले समय के रूप में सामने आया होगा।  दशकों तक तो शोधकर्ता इसी बात को लेकर संघर्ष करते रहे कि मंगल ग्रह किस प्रकार गर्म हुआ होगा।

आज मंगल के वातावरण में 95 फीसदी कार्बन डाईआक्साइड है और यह धरती पर सर्वाधिक अधिक मात्रा में मौजूद ग्रीनहाउस गैस है। हालांकि कार्बन डाईआक्साइड अकेले मंगल के शुरूआती तापमान में एकमात्र कारक नहीं रही होगी। 

शोधकर्ताओं का कहना है कि मंगल के वातावरण में कुछ और भी रहा होगा जिसने ग्रीनहाउस गैस के प्रभाव में योगदान दिया होगा। शोधकर्ताओं ने पाया है कि आज मंगल के वातावरण में मीथेन गैस बहुत अधिक मात्रा में नहीं है लेकिन अरबों साल पहले इसके वातावरण में अधिक मात्रा में मीथेन गैस रही होगी। 

वर्डस्वर्थ कहते हैं, हम यह खोज रहे थे कि जब मीथेन, हाइड्रोजन और कार्बन डाइआक्साइड के बीच क्रिया हुई तो फोटोन के साथ उनकी क्रिया कैसी रही। हमने पाया कि इस सम्मिश्रण के परिणामस्वरूप विकिरण बहुत अधिक मात्रा में अवशोषित हुआ होगा।

यह पहली बार है जब वैज्ञानिक सटीक रूप से ग्रीनहाउस गैसों के प्रभाव का आकलन करने में सफल रहे हैं । साथ ही पहली बार ही यह पता चला है कि शुरूआती मंगल ग्रह पर मीथेन एक प्रभावी ग्रीनहाउस गैस रही थी। यह शोध रिपोर्ट जियोफिजिकल रिसर्च लैटर्स में प्रकाशित हुई है ।
www.kiranbookstore.com

http://kiranprakashan.blogspot.in/
http://spardhaparikshahelp.blogspot.in/
http://advocate-vakil.blogspot.in/
http://bankexamhelpdesk.blogspot.in/
http://kicaonline.blogspot.in/
http://previous-questionpapers.blogspot.in/
http://freecareerhelp.blogspot.com/
http://kiranworkfromhome.blogspot.in/
http://kp-ahmedabad.blogspot.in/
http://kp-pune.blogspot.in/
http://kirancompetitivecurrentevents.blogspot.in/
http://iwantgovernmentjob.blogspot.in/
http://staffselectioncommission.blogspot.in/
http://pradeepclasses.blogspot.in/
http://rajasthan-government-jobs.blogspot.in/
http://medical-government-jobs.blogspot.in/
http://it-government-jobs.blogspot.in/
http://engineering-government-jobs.blogspot.in/
http://mp-government-jobs.blogspot.com/
http://punjab-government-jobs.blogspot.in/
http://tamil-nadu-government-jobs.blogspot.in/
http://karnataka-government-jobs.blogspot.in/
http://up-government-jobs.blogspot.in/
http://west-bengal-government-jobs.blogspot.in/
http://central-government-jobs.blogspot.in/
http://bihar-government-jobs.blogspot.in/
http://gujarat-government-jobs.blogspot.com/
http://maharashtra-government-jobs.blogspot.in/
http://government-jobs-kiran.blogspot.in/
http://sarkari-naukri-kiran.blogspot.in/
http://competitiveexamhelp.blogspot.in/
http://kiraninstituteforcareerexcellence.blogspot.com/
http://mpschelp.blogspot.com/
http://competitivemaths.blogspot.in/
http://competitiveenglish.blogspot.in/
http://competitivecurrentaffair.blogspot.in/
http://reasoningexams.blogspot.in/
http://teacherexams.blogspot.in/
http://policeexams.blogspot.in/
http://railwayexams.blogspot.com/
http://competitivegeneralstudies.blogspot.in/
http://ksbms.blogspot.in/
http://kirancurrentaffairs.blogspot.in/
http://upscmpsc.blogspot.in/
http://www.kirannews.in/
http://www.pratiyogitakiranonline.com/
http://ap-andhrapradesh-jobs.blogspot.in/